राजदूत संजय – प्रश्न


प्रश्न / उत्तर

प्रश्न-1  भीष्म ने युधिष्ठिर के संधि प्रस्ताव को सुनकर क्या सलाह दी? 

 

प्रश्न-2  संधि प्रस्ताव के विषय में अंत में धृतराष्ट्र ने क्या निश्चय किया?

 

प्रश्न-3  युधिष्ठिर ने संजय द्वारा धृतराष्ट्र को क्या संदेश भेजा?

 

प्रश्न-4  धृतराष्ट्र  ने दुर्योधन को संधि के विषय में क्या समझाया?

 

प्रश्न-5 श्रीकृष्ण स्वयं हस्तिनापुर क्यों जाना चाहते थे?

 

प्रश्न-6  धृतराष्ट्र ने संजय को बुलाकर क्या कहा?   

 

प्रश्न-7 कर्ण ने संधि के प्रस्ताव के संदर्भ में क्या बोला?

 

प्रश्न-8 पांडवों और कौरवों ने अपनी सेना किस प्रकार इकठ्ठी की?

 

प्रश्न-9  संधि प्रस्ताव के प्रति कर्ण की राय को सुनकर भीष्म क्या बोले? 

 

प्रश्न-10  युधिष्ठिर ने किसे दूत बनाकर भेजा और उसने धृतराष्ट्र से क्या कहा?

 

प्रश्न-11  किसने किससे कहा?

i. “मैं तो सुई की नोंक के बराबर भूमि भी पांडवों को नहीं देना चाहता हूँ।”

ii. “बेटा, भीष्म पितामह जो कहते हैं, वही करने योग्य है।”

iii. “धर्मपुत्र! मैं दुर्योधन से भली-भाँति परिचित हूँ। फिर भी हमें प्रयत्न करना ही चाहिए।”

iv. “बेटा, जब पाँच गाँव देने से ही युद्ध टलता है, तो बाज़ आओ युद्ध से।”


Last modified: Sunday, 30 December 2018, 4:16 PM