विराट का भ्रम – प्रश्न


प्रश्न / उत्तर

प्रश्न-1 राजकुमार उत्तर को अर्जुन से कंक के बारे में क्या मालूम हो चुका था?

 

प्रश्न-2 राजकुमार उत्तर के बारे में राजा विराट को क्या भ्रम हुआ?

 

प्रश्न-3  कंक के मुख से खून बहता देखकर राजकुमार उत्तर क्यों चकित रह गया? 

 

प्रश्न-4  अंत:पुर में राजकुमार उत्तर को न पाकर जब राजा ने पूछताछ की तो उन्हें क्या पता चला?

 

प्रश्न-5  राजा विराट को शोकातुर होते देखकर कंक ने उन्हें दिलासा देते हुए क्या कहा?

 

प्रश्न-6  पुत्र की विजय हुई, यह जानकर विराट को कैसा लगा? 

 

प्रश्न-7 युधिष्ठिर (कंक) द्वारा बार - बार बृहन्नला की चर्चा का क्या परिणाम हुआ?

 

प्रश्न-8  कंक के मुख से खून बहता देखकर राजकुमार उत्तर ने क्या किया?

 

प्रश्न-9  युधिष्ठिर ने दूतगण को प्रतिज्ञा की अवधि पूरी होने के विषय में क्या कहा?   

 

प्रश्न-10  जब अर्जुन ने सभी को अपना असली परिचय दिया तब लोगों की क्या प्रतिक्रिया हुई?

 

प्रश्न-11  किसने किससे कहा?

i. “आप राजकुमार की चिंता न करें। बृहन्नला सारथी बनकर उनके साथ गई हुई है।”

ii. “देखा राजकुमार का शौर्य? विख्यात कौरव-वीरों को मेरे बेटे ने अकेले ही लड़कर जीत लिया!”

iii. “नि:संदेह आपके पुत्र भाग्यवान हैं, नहीं तो बृहन्नला उनकी सारथी बनती ही कैसे?”

iv. “कौन था वह वीर? कहाँ है वह? बुला लाओ उसे।”

 

Last modified: Sunday, 30 December 2018, 4:03 PM